India

गांधी की कर्मभूमि चम्पारण पर बब्लू दूबे का काला साया…

Talha Abid for BeyondHeadlines

सुशासन बाबू के राज मे लोगों को दिन-दहाड़े किसी को मारना और रंगदारी मांगना इस शख्स के लिए कोइ बडी बात नहीं, ये है बब्लू दूबे…

बब्लू दूबे बिहार पीपुल्स लिबरेशन आर्मी नाम के संगठन के ज़रीए अपने मंसूबों को अंजाम दे रहा है. आलम यह है कि जिले पर लगातार बब्लू का दबदबा बढ़ता जा रहा है. उसके नाम का खौफ लोगों के दिल मे बैढ़ता जा रहा है. इतना हीं नहीं उसने जिले में वह अपने आर्मी को मज़बूत करना भी शुरू कर दिया है. इसके लिए उसने कई घटनाओं को अंजाम भी दिया है. उसका नाम सुनकर जिले के व्यवसायियों और ठेकेदारों के रोंगटे खड़े हो जा रहे हैं. हालांकि फिलहाल नौतन, जगदीशपुर, मझौलिया और बेतिया शहर पर हीं उसने अपना साम्राज्य सीमित कर रखा है.

गांधी की कर्मभूमि चम्पारण पर बब्लू दूबे का काला साया...

यहां उसने सबसे पहले मई, 2012 के माह में गंडक नदी पर बन रहे पुल के सुपरवाइजर को मौत के घाट उतार दिया. उसके बाद अवहर शेख के दबंग जवाहर गुप्ता की दिन-दहाडे़ हत्या करवाई और इसकी जिम्मेदारी भी ली. इसके अलावा दिसंबर, 2012 नौतन सुरेश यादव से रंगदारी की मांग की और न देने पर हत्या करने धमकी दी. और अब बेतिया के होंडा एजेंसी के मालिक से भी रंगदारी मांग कर यह जता दिया है कि उसे किसी का डर नही. पुलिस प्रशासन हाथ पर हाथ रखे तमाशा देख रही है.

नीतिश सरकार की वाहवाही तो दिल्ली तक गूंज रही है और सुशासन बाबू इसी के भरोसे प्रधानमंत्री बनने के सपने भी देख रहे हैं और उन के राज में ऐसे माफिया पल रहे हैं. तो इसे सुशासन की हार कहें या जंगल राज…

(बिहार के चम्पारण ज़िला से लौटकर आने के बाद)

Loading...

Most Popular

To Top