India

मोदी के उड़नखटोले को लेकर बीएचयू व काशी विद्यापीठ के छात्रों ने की शिकायत

BeyondHeadlines News Desk

वाराणसी :  24 अप्रैल को बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी का हैलीकॉप्टर काशी विद्यापीठ में उतरने वाला है. इसको लेकर महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ छात्रसंघ में एक अलग महाभारत शुरू हो गया है. छात्र संघ के महामंत्री ने मोदी को विद्यापीठ कैम्पस में घुसने ना देने और उनका विरोध करने की घोषणा की है.

काशी विद्यापीठ के छात्र संघ के महामंत्री विकास सिंह का कहना है कि राजनीतिक दलों के नेताओं का हैलीकॉप्टर शिक्षण संस्थान में नहीं उतरना चाहिए.

उन्होंने इस संबंध में चुनाव आयोग को एक पत्र लिखकर विरोध जताया है. विकास ने अपने पत्र में लिखा है कि 2001 में सोनिया गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी के हैलीकॉप्टर को विद्यापीठ में उतरने की इजाज़त नहीं मिली थी. तो फिर मोदी को यह इजाज़त कैसे मिल गई?

उनका यह भी आरोप है कि यह सब ज़िला प्रशासन और भाजपा नेताओं के मिलीभगत से हो रहा है. मोदी को सड़क मार्ग के ज़रिए बीएचयू से विद्यापीठ पहुंचने में 12 मिनट का समय लगेगा.

विकास सिंह ने इस संबंध में काशी विद्यापीठ के कुलपति और ज़िला प्रशासन से भी आपत्ति दर्ज कराई है. लेकिन उनका कहना है कि अब उनके शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है.

वहीं दूसरी तरफ मोदी के समर्थन में छात्र संघ अध्यक्ष ने अपने सपोर्ट को खुला एलान किया है. इस प्रकार मोदी को लेकर छात्र संघ के दोनों पदाधिकारी आमने-सामने आ गये हैं.

बीएचयू में भी विरोध

बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी के छात्र भी नरेन्द्र मोदी के हैलीकॉप्टर को कैम्पस परिसर में उतारे जाने के विरोध में हैं. उनका कहना है कि बीएचयू प्रशासन कांग्रेस नेता राहुल गांधी को कैंपस में आने से मना कर चुका है. आनन्द प्रकाश को परिसर में आने से रोका गया था.  साथ ही अरविन्द केजरीवाल को भी कैम्पस आने पर रोक लगाई गई है, तो अब मोदी को आज्ञा कैसे दे दी गई? इस संबंध में यहां के छात्रों ने ज़िला निर्वाचन अधिकारी, बीएचयू के कुलपति और चीफ प्रोक्टर को ज्ञापन सौंपा है.

एनएसयूआई के इकाई अध्यक्ष श्वेतांक पांडेय का कहना है कि मोदी के उड़नखटोले को बीएचयू परिसर में उतारने की अनुमति बीएचयू प्रशासन की कलई खोलने के लिए काफी है. क्या बीएचयू हिन्दुत्व के एजेंडे पर काम कर रहा है? जब यही प्रशासन बाजाब्ता नोटिस जारी कर कैम्पस परिसर में नेताओं की आमदगी पर प्रतिबंध लगा चुकी है, तो मोदी को आने की इजाज़त किस आधार पर दे दिया गया.

कैम्पस आना है हेलीकॉप्टर

बीजेपी उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी 24 अप्रैल को वाराणसी सीट से नामांकन करने के लिए आ रहे हैं. वह बाबतपुर एयरपोर्ट से हेलीकॉप्टर के ज़रिये पहले बीएचयू जाएंगे और फिर इसी हैलीकॉप्टर से महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ पहुंचेंगे. विद्यापीठ से उनके नामांकन के लिए रोड शो होगा, जिसकी शुरूआत मलदहिया चौराहे से सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण से होना है.

Loading...

Most Popular

To Top