India

‘गिटार वाले अंकल’ के मुताबिक आम आदमी पार्टी चंद दिनों की मेहमान!

Avdhesh Kumar for BeyondHeadlines

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. बल्कि बढ़ती जा रही है. शाजिया इल्मी के पार्टी छोड़ने के बाद अब आप के संस्थापक सदस्य सुशील अहुजा सहित कुछ और अन्य लोगों ने भी पार्टी छोड़ने का मन बना लिया है.

सुशील अहुजा ने लोकसभा प्रत्याशी बनने के लिए पार्टी के कहे अनुसार दो हजार लोगों के हस्ताक्षर कराए थे, लेकिन अब वह उन्हें फोन करके माफी मांग रहे हैं.

सुशील अहुजा या गिटार वाले अंकल के नाम से मशहूर ‘आप’ के इस कार्यकर्ता ने दिल्ली के विधानसभा चुनावों में गीत और गिटार बजाकर लोगों को ‘आप’ के लिए वोट डालने की अपील की थी. लेकिन आज वह आम आदमी से अपना नाता तोड़ रहे हैं.

उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान दिल्ली की जनता से अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी का साथ देने को कहा था. लेकिन वह आज उनसे फोन करके माफी मांग रहे हैं, और वह स्वयं पार्टी से इस्तीफा दे रहे हैं.

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी ने दिल्ली विधानसभा चुनावों के दौरान स्वराज का गीत अलापकर 28 सीटों पर जीत हासिल की थी. जबकि सच्चाई यह है कि पार्टी में ही स्वराज नहीं है.

अहुजा ने पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह पार्टी किन्हीं चार लोगों की खास पार्टी बनकर रह गई है. इस पार्टी से लोग दिल से जुड़े थे, लेकिन पार्टी में चार दिन पहले आए कुछ नये चहरे पार्टी के मालिक बन गए हैं, और पार्टी के अन्य कार्यकर्ताओं को अपना नौकर समझते हैं, जिससे लोगों में काफी रोष है. पार्टी के नेताओं के इस व्यवहार से लोग अपने को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं.

हालांकि उन्होंने अरविंद केजरीवाल को सही बताया. उन्होंन कहा कि केजरीवाल अपनी गजह ठीक हैं. लेकिन केजरीवाल के साथ जो लोग हैं, वह पार्टी की छवि को खराब कर रहे हैं. और केजरीवाल को आगे नहीं बढ़ने दे रहे हैं. अगर यह पार्टी इन्हीं चंद लोगों के हाथ में रही तो यह चंद दिनों की मेहमान है.

Loading...

Most Popular

To Top