India

रेल किराया को लेकर बनारस में फूंका गया मोदी का पुतला

BeyondHeadlines News Desk

नई दिल्ली : मोदी सरकार द्वारा रेल बजट से ऐन पहले यात्री किराये में करीब 14 फीसदी और माल भाड़े में 6.5 फीसदी की बढ़ोतरी किए जाने के खिलाफ देश भर में राजनीति तेज हो गई है.

विपक्षी पार्टी के नेता-कार्यकर्ता जगह-जगह सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन कर रहे हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंक रहे हैं. उधर, वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रेल किराया बढ़ाने का बचाव किया है. उनका कहना है कि यह कठिन लेकिन सही फैसला है.

उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद, कानपुर सहित कई जगहों पर सपा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया. भुवनेश्वुर में वाम मोर्चा के कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे, तो दिल्ली में कांग्रेसियों ने प्रदर्शन किया. दिल्ली में प्रदर्शनकारी कांग्रेसियों पर पानी की बौछार की गई. उधर वेलफेयर पार्टी ऑफ इंडिया ने भी इसका विरोध किया है. साथ ही उसने अपने कार्यकर्ताओं से अपील भी की है कि वो इस फैसले के खिलाफ पूरे देश में सड़कों पर उतर कर इसका विरोध करें.

जानकारी के मुताबिक मोदी के वाराणसी में भी विरोध-प्रदर्शन हुआ. वाराणसी रेलवे स्टेशन पर सपा कार्यकर्ताओं ने मोदी का पुतला फूंका. शनिवार को सपा कार्यकर्ताओं ने जमकर मोदी मुर्दाबाद के नारे लगाए. शहर के दूसरे इलाके में भी प्रदर्शन किया गया.

सपा कार्यकर्ताओं ने आज इलाहाबाद में रेलवे ट्रैक जाम कर मोदी के फैसले पर अपना विरोध जताया. कार्यकर्ताओं ने इलाहाबाद से लखनऊ जा रही गंगा-गोमती एक्सप्रेस को सीएमपी डाट पुल के पास लगभग आधे घंटे रोके रखा गया, जिससे दिल्ली-हावड़ा रेलवे ट्रैक जाम हो गया. सपा कार्यकर्ताओं ने रेलवे ट्रैक को करीब 30 मिनट तक जाम रखा. सपा कार्यकर्ताओं ने ट्रेन के इंजन पर चढ़कर रेलमंत्री सदानंद गौड़ा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारेबाजी की. वह रेल किराए में की गई अप्रत्याशित 14.2 फीसदी की वृद्धि को वापस लेने की मांग कर रहे थे. बाद में पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बमुश्किल सपा कार्यकर्ताओं को हटाया और जाम खुलवाया. इस दौरान सपा कार्यकर्ताओं और पुलिस में हल्की धक्का-मुक्की भी हुई.

Most Popular

To Top