Exclusive

स्वाईन फ्लू का टीका बनाने वाली कम्पनी सेरम इंस्टीच्यूट ने भाजपा को दिया 1.55 करोड़ का चंदा

Afroz Alam Sahil for BeyondHeadlines

स्वाईन फ्लू से निपटने के लिए देसी टीका बनाने वाली कम्पनी सेरम इंस्टीच्यूट ऑफ इंडिया ने आम चुनाव से पहले यानी साल 2013-14 में तीन चेकों के माध्यम से सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी को 1.55 करोड़ का चंदा दिया है. यह चंदा एक्सिस बैंक, पुणे-4 ब्रांच के चेक के ज़रिए दिया गया है. चेक नम्बर 196633 से माध्यम से 60 लाख, चेक नम्बर 196636 के माध्यम से 40 लाख और चेक नम्बर 196635  के ज़रिए 55 लाख का चंदा भाजपा को मिला है.

यही नहीं, इसी साल यानी 2013-14 में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को भी दो चेकों के माध्यम से 1.50 करोड़ का चंदा पुणे के इस सेरम इंस्टीच्यूट ऑफ इंडिया ने दिया है. (हालांकि इस कम्पनी ने देश के बाकी किसी भी राजनीतिक दल को कोई चंदा नहीं दिया है.)

स्पष्ट रहे कि सेरम इंस्टीच्यूट ऑफ इंडिया दावा करती है कि वो अलग-अलग बीमारियों के लिए वैक्सिन बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कम्पनी है. इस कम्पनी ने 2010 में महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में स्वाइन फ्लू का नाक से लिया जाने वाला देसी टीका लॉन्च किया था. उस समय कंपनी ने दावा किया था कि नैसोवैक नाम के इस टीके की 0.5 मि.ली. की एक बूंद एक से दो साल तक व्यक्ति की एच1एन1 वायरस से रक्षा करेगी.  कम्पनी के मुताबिक नैसोवैक भारतीय वैज्ञानिकों के लंबे रिसर्च और कड़ी मेहनत का परिणाम है. डब्लूएचओ से ‘डोनर वायरस’ मिलने के बाद इन वैज्ञानिकों ने इस पर काम करना शुरू किया था.

गौरतलब है कि एच1एन1 मौसमी इन्फ्लुएंजा के प्रभाव तथा इस संबंध में भारत सरकार द्वारा उठाए गए क़दमों के बारे में संसद के दोनों सदनों में बोलते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्यांण मंत्री जगत प्रकाश नड्डा ने बताया कि इस इन्फ्लुएंजा के कारण होने वाली मौतें हम सबके लिए गंभीर चिंता का विषय है. 22 फरवरी 2015 के तक आंकड़ों के मुताबिक स्वाईन प्लू के 14673 मरीज़ पाए गए हैं. वहीं इसके कारण 841 मौतें हुई हैं.

आंकड़ों को पेश करते हुए उन्होंने बताया कि भारत और विश्व के अन्य भागों में वर्ष 2009 और 2010 में इन्फ्लुएंजा एच1एन1 से प्रभावित थे. 2009 में सूचित मामलों की संख्या 27236 और 2010 में 20604 थी. वर्ष 2009 में मौतों की संख्या 981 तथा 2010 में 1763 थी. मौजूदा वर्ष में 01 जनवरी से 22 फरवरी, 2015 तक राज्यों द्वारा सूचित रोगियों की संख्या 14673 और उसी अवधि में मौतों की संख्या 841 है.

इन्फ्लुएंजा ए-एच1एन1

वर्ष 2009 2010 2011 2012 2013 2014 2015
रोगी 27236 20604 603 5044 5253 937 14673*
मौतें 981 1763 75 405 699 218 841*

22.02.0215 के अनुसार

Most Popular

To Top