Latest News

मेवात के गांव में ठाकूरों की दबंगई…

दिनेश गौतम

मेवात: अपने ही गांव की एक विधवा को मोटर साईकल से बांधकर गांव वालों के सामने दिन दहाड़े घसीटा जाता है, और सब मूक-दर्शक बनकर खड़े रहते हैं. ये दुर्घटना मेवात के ब्लाक तावडू के गांव ठेठर राठीवास की है, जो ठाकुर समुदाय बहुल गांव है. इस 45 वर्षीया विधवा का क़सूर मात्र इतना है कि वो असहाय है और हरिजनों की बहू है.

नीमरानी (बदला हुआ नाम) के ससूर के अनुसार विगत 20 जुलाई को गांव के ही ठाकुर समुदाय के कुछ 8 से 10 दबंग लड़के जबरन उसकी बहू को घसीट कर बाहर ले गए. ये हादसा गांव के बीचों-बीच दिन दिहाड़े हुआ. जब नीमरानी के ससूर ने उन्हें रोकने कि कोशिश की तो उसे भी मारा पीटा गया. घर में पीड़ित महिला के दो बच्चे भी मौजूद थे, जो डर के मारे बाहर नहीं निकले. नीमरानी को बाहर घसीट कर इन ठाकुर लड़कों ने बड़ी बेरहमी से मारा पीटा और फिर जब इससे भी उनका जी नहीं भरा, तो उन्होंने उसके हाथ रस्सी से बांधे और मोटर साइकल के पीछे बांधकर गांव की नालियों और गन्दी गलियों में तब तक उसे घसीटते रहे जब तक वो बेहोश नहीं हो गयी और उसके बदन के कपड़े तार-तार नहीं हो गए.

जब इस बेबस औरत के ससूर बताते  हैं कि उनका बड़ा पोता 5 साल से गायब है, जिसका अपहरण भी इन ठाकुर लड़कों ने ही करवाया था, वो आज तक लापता है और पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. उनकी बहू के साथ ये घटना कोई नई नहीं है. इससे पहले भी यही दबंग लड़के इनके घर में दिन-दहाड़े घुसकर उसे मार पीटकर डरा धमका कर सीना चौड़ा करके चले जाते हैं. जब फन्होंने थाने में गुहार लगायी तो गांव का सरपंच जो कि स्वयं ठाकुर समुदाय से है, एक पुलिसवाले के साथ इस अबला हरिजन नारी के घर में घुसा और गन्दी-गन्दी गलियां दी और साथ ही ये धमकी भी दी कि अगर उसने फिर से थाने जाने कि कोशिश की तो सबका नामो- निशान मिटा देगा. उसने बाहर गली में खड़े होकर चिल्ला चिल्ला कर हरिजनों को खुली धमकी दी कि जो भी इस परिवार की मदद को आगे आएगा, उसका  अंजाम बहुत बुरा होगा.

नीमरानी की एक बड़ी लड़की जो कि लगभग 22 साल की  होगी, को अपने किसी रिश्तेदार के यहाँ महफूज़ रखने के लिए भेज रखा है, क्योंकि उन हैवानों ने धमकी दी है कि जिस दिन वो लड़की गांव में आएगी उसी दिन उसका बलात्कार होगा और पूरे परिवार का अंजाम बुरा होगा.

इन दबंगों की कोई हद नहीं है. जब इस महिला के ससूर उसे उठाकर मरहम पट्टी के लिए ले गए तो सरपंच जी डॉक्टर के यहाँ भी पहुँच गए और डॉक्टर तक को धमकी दे डाली कि इसकी अगर किसी को कोई ख़बर दी तो उसका अंजाम भी वही होगा.

इस दुर्घटना के बाद से पूरा हरिजन मोहल्ला सदमे और दहशत में है. विडम्बना यह है कि आख़री ख़बर मिलने तक कोई रपट थाने में नहीं लिखी गयी थी.

(लेखक इम्पावर पीपुल से जुड़े हैं और ये लेखक के अपने विचार हैं.)

Most Popular

To Top