India

हमीरपुर में ‘आप’ कार्यकर्ता पिछले नौ दिनों से आमरण अनशन पर

Avdhesh Kumar for BeyondHeadlines

आम आदमी पार्टी के कई टिकट कटने के बाद भी आप कार्यकर्ताओं का विरोध प्रदर्शन जारी है. उत्तर प्रदेश हमीरपुर लोकसभा से अतुल कुमार प्रजापति को प्रत्याशी बनाये जाने पर पार्टी कार्यकर्ता खासे नाराज हैं. नाराज कार्यकर्ता प्रत्याशी के खिलाफ राजीव चॉक स्थित आप पार्टी दफ्तर के बाहर पिछले नौ दिनों से आमरण अनशन पर है. कार्यकर्ताओं का मानना है आठ मार्च तक दिल्ली की एक कंपनी में कार्य करने वाले को दस मार्च को टिकट कैसे मिल सकता है. विरोध कर रहे कार्यकर्ताओं ने कहा कि पार्टी में सब मिलीभगत से हो रहा है और यह पार्टी अब धीरे-धीरे आप आदमी की जगह खास लोगों की पार्टी बनती जा रही है.

आम आदमी पार्टी के खिलाफ 15 मार्च से अमरण अनशन पर बैठे आप कार्यकर्ता लाखन सिंह एडवोकेट ने पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि आम लोगों की बात करने वाली इस पार्टी में सारे टिकट खास लोगों को दिए जा रहे हैं. उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में जिस व्यक्ति को आप पार्टी ने प्रत्याशी बनाया वह दिल्ली में रहता है, और दिल्ली में करोलबाग स्थित एक कंपनी में कार्य करता है.

उन्होंने बताया कि पार्टी ने अतुल को दस मार्च में प्रत्याशी बनाया जबकि वह आठ मार्च को ही गांव में पहुंचा था. इससे साफ पता चलता है कि जिस व्यक्ति को पार्टी ने टिकट दिया है वह साटगांठ के तहत दिया है. साथ ही उन्होंने बताया कि अतुल के पिता अतिरिक्त जिला न्यायधीश थे और वह अपने पद पर रहते समय कई बार उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे और उन्हें बर्खास्त भी किया गया.

साथ ही उन्होंने बताया कि उनके पिता पर नौकरी पर रहते हुए भ्रष्टाचार के 55 केस दर्ज हुए हैं, जिसकी कॉपी संवाददाता के पास मौजूद है. उन्होंने कहा कि पार्टी में यह स्वराज पुस्तक में लिखे गये आदर्शों का सीधा उल्लंघन है, और प्रत्याशी ने अपने आवेदन में अपने परिवार के भ्रष्टाचार के गंभीर आरोपों को छुपाया गया है. ऐसे प्रत्याशी को कार्यकर्ता कभी भी बरदाश्त नहीं करेंगे.

उन्होंने कहा कि पार्टी किसी को टिकट दे, लेकिन अगर एक भ्रष्ट व्यक्ति को पार्टी चुनाव मैदान में उतारती है तो हम इसके खिलाफ हैं. जब तक पार्टी टिकट नहीं बदलती है तब तक अनशन जारी रहेगा चाहे इसके लिए मौत क्यों ना हो जाए. उन्होंने बताया कि पार्टी के सभी वरिष्ट अधिकारियों से बात की है मगर अभी किसी तरह का कोई आश्वासन नहीं मिला है.

Loading...

Most Popular

To Top