India

देखिए! क्या कह रहे हैं व्यापमं घोटाले को उजागर करने वाले आशीष चतुर्वेदी

BeyondHeadlines Staff Reporter

नई दिल्ली : देश के बड़े घोटालों में शामिल व्यापमं घोटाले को उजागर करने वाले आरटीआई कार्यकर्ता आशीष चतुर्वेदी का कहना है कि सीबीआई जांच के नाम पर इस पूरे मामले को ठंडे बस्ते में डाल रही है. इससे जुड़े साक्ष्य व दस्तावेज़ ग़ायब हो रहे हैं.

आशीष चतुर्वेदी कहते हैं कि जिस तरह से साक्ष्य व दस्तावेज़ ग़ायब हो रहे हैं, इसका सीधा लाभ आरोपियों को मिलेगा. और सच यही है कि जांच एजेंसियां आरोपियों को लाभ पहुंचाने के लिए साक्ष्य व दस्तावेज़ मिटा रही हैं, उन्हें नष्ट कर रही हैं.

बता दें कि इस पूरे मामले में आशीष चतुर्वेदी पर अब तक 16 बार हमले किए जा चुके हैं. वहीं आशीष चतुर्वेदी के मुताबिक़ प्रताड़ित किए जाने के मक़सद से मध्य प्रदेश सरकार 24 घंटे मेरी वीडियो रिकार्डिंग कराई. उनका कहना है कि वीडियो रिकार्डिंग के नाम पर मुझे और मेरे परिवार को प्रताड़ित कर मेरे निजता का हनन किया गया.

आशीष चतुर्वेदी कुछ नए मामले को लेकर अदालत जाने की तैयारी में हैं. उनका कहना है कि, इसके साथ ही व्यापमं घोटाले में जो साक्ष्य व फाईलें गायब हुई हैं, उसके बारे में भी कोर्ट को बताया जाएगा, ताकि व्यापमं घोटाले की जांच एक तय समय सीमा में की जा सके. क्योंकि ऐसे ही जांच चलती रही और दस्तावेज़ गायब होते रहे तो इसका अंत में लाभ आरोपियों की ही मिलेगा. 

आशीष चतुर्वेदी का कहना है कि इस घोटाले में तमाम राजनीतिक दल के लोग शामिल हैं, चाहे वो सरकार में हों या फिर विपक्षी पार्टियों में. सभी पार्टियों के लोग शामिल हैं. किसी के कम हैं तो किसी के ज़्यादा.

ग़ौरलतब रहे कि प्रवर्तन निदेशालय ने इस मामले में इसी महीने चार्जशीट दायर की है और इस घोटाले का मास्टरमाइंड परीक्षा नियंत्रक पंकज त्रिवेदी को बताया है.

प्रवर्तन निदेशालय के एक अधिकारी के मुताबिक़ ये इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय का पहली चार्जशीट है. भविष्य में पूरक चार्जशीट दायर की जा सकती है क्योंकि जांच अभी जारी है.

बता दें कि व्यापमं घोटाला मामले में शामिल अब तक 52 लोगों की संदिग्ध मौत हो चुकी है.

BeyondHeadlines के साथ आशीष चतुर्वेदी की ख़ास बातचीत को आप यहीं देख व सुन सकते हैं —

Most Popular

To Top