Election 2019

मधुबनी में निर्दलीय उम्मीदवार डॉ. शकील अहमद को कन्हैया की पार्टी ने दिया अपना समर्थन

BeyondHeadlines News Desk

पटना : बिहार के मधुबनी संसदीय क्षेत्र में निर्दलीय उम्मीदवार डॉ. शकील अहमद का भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने समर्थन किया है. 

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव सत्य नारायण सिंह ने आज एक प्रेस बयान जारी कर इस बात की घोषणा है कि उनकी पार्टी भाजपा को हराने के लिए मधुबनी संसदीय क्षेत्र में निर्दलीय उम्मीदवार डॉ. शकील अहमद, सीतामढ़ी संसदीय क्षेत्र में आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार डॉ. रघुनाथ कुमार और मुज़फ़्फ़रपुर संसदीय क्षेत्र में एसयूसीआई के उम्मीदवार मोहम्मद इदरीश को समर्थन करती है.

सत्य नारायण सिंह का कहना है कि 17वीं लोकसभा का चुनाव एक ऐसी परिस्थिति में हो रहा है जब देश के संविधान, लोकतंत्र, धर्मनिरपेक्षता, शांति, सद्भाव, समानता, स्वतंत्रता और सबके लिए न्याय को ज़बर्दस्त ख़तरा पैदा हो गया है. इसलिए यह चुनाव अत्यन्त महत्वपूर्ण चुनाव है. आरएसएस और उसका राजनीतिक संगठन भारतीय जनता पार्टी देश के लिए सबसे बड़ा ख़तरा है. इस ख़तरे से देश को बचाना मतदाताओं की सर्वोच्च प्राथमिकता है. अगर भाजपा फिर सत्ता में आ गई तो देश के संविधान, लोकतंत्र, धर्मनिरपेक्षता, न्याय, विचारों एवं अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के भविष्य को अक्षुण्य बनाए रखना मुश्किल हो जाएगा.

वो कहते हैं, केन्द्र में मोदी सरकार को हटाकर उसकी जगह एक ऐसी वैकल्पिक सरकार बनाना ज़रूरी है, जो देश के संविधान, लोकतंत्र, धर्मनिरपेक्षता की हिफ़ाज़त करने और आम जनता की समस्याओं को हल करने के लिए प्रतिबद्ध हो यानी एक जनहितैषी, सेक्युलर, लोकतांत्रिक एवं प्रगतिशील सरकार हो. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी चाहती है कि मोदी सरकार के अपदस्थ करने के लिए भाजपा और उसके सहयोगी दलों को पराजित किया जाए. इसलिए हमारी पार्टी ने भाजपा और उसके सहयोगी दलों को हराने के लिए सभी लोकतांत्रिक, धर्मनिरपेक्ष, वामपंथी एवं प्रगतिशील शक्तियों को एकजुट होने का आह्वान किया है, ताकि भाजपा और उसके सहयोगी दलों की हार सुनिश्चित हो सके.

उनका कहना है कि अब तक हुए चार चरणों के मतदान से यह स्पष्ट हो चुका है कि मतदाताओं का झुकाव आम तौर पर भाजपा के ख़िलाफ़ है. आगे के बाक़ी तीन चरणों के मतदान में भी मतदाताओं का रूख भाजपा के ख़िलाफ़ ही रहेगा, ऐसा हमारा विश्वास है.

Most Popular

To Top