India

मॉब लिंचिंग के ख़िलाफ़ देश के क़रीब 80 शहरों में एक साथ प्रदर्शन, तबरेज़ को इंसाफ़ न मिलने पर जल्द ही किया जाएगा भारत बंद का ऐलान

BeyondHeadlines News Desk

नई दिल्ली: देश में बढ़ रही मॉब लिंचिंग की वारदातों के ख़िलाफ़ एवं झारखंड के सरायकेला में लिंच किए गए तबरेज़ अंसारी के इंसाफ़ के लिए आज दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना-प्रदर्शन किया गया. ख़बर है कि ठीक इसी वक़्त ऐसा ही प्रदर्शन देश के क़रीब 80 से अधिक शहरों में एक साथ किया गया. 

बुधवार शाम बड़ी संख्या में महिलाएं, युवा और बुजुर्ग जंतर-मंतर पर पहुंचने लगे. इन लोगों में डीयू, जेएनयू व जामिया के छात्रों व टीचरों की संख्या अधिक थी. अधिकतर के हाथों में अपने-अपने प्ले कार्ड थे, जिस पर ये साफ़ संदेश था कि अब ये देश राम के नाम पर और मॉब लिंचिंग बर्दाश्त नहीं करेगा. 

शाम पांच बजे से जंतर-मंतर शुरू हुए विरोध-प्रदर्शन का संचालन युवा नेता उमर ख़ालिद कर रहे थे. इस मौक़े से कई सांसद, छात्र नेता, एक्टिविस्ट व शिक्षाविद्ध मौजूद थे. 

सांसद कुंवर दानिश व इ.टी. बशीर, ओखला विधायक अमानतुल्लाह खान, प्रोफ़ेसर अपूर्वानंद, सीपीआई नेता कन्हैया कुमार समेत कई वक्ताओं ने इस प्रदर्शन को संबोधित किया और मांग रखी कि झारखंड के मुख्यमंत्री इस्तीफ़ा दें. साथ ही तबरेज़ अंसारी के हत्यारों को कड़ी से कड़ी सज़ा दी जाए. 

बता दें कि देश के 80 शहरों में एक साथ होने वाले इस प्रदर्शन का असल कारण सोशल मीडिया है. सोशल मीडिया पर सबसे इस बात की चर्चा हुई कि दिल्ली के जंतर-मंतर कैंडल मार्च किया जाए. देखते ही देखते हर शहर के युवाओं ने ये ऐलान करना शुरू कर दिया कि उनके शहर में भी ये धरना-प्रदर्शन व कैंडल मार्च आयोजित की जा रही है. अब सोशल मीडिया पर चर्चा है कि अगर सरकार इनकी मांगें नहीं मानी और तबरेज़ अंसारी के साथ इंसाफ़ नहीं हुआ तो जल्द ही भारत बंद का ऐलान किया जाएगा. 

Most Popular

To Top